Advertisement

kaun banega nanha kalam 2020 registration Application form KBNK

kaun banega nanha kalam 2020 registration Application form KBNK 


Kaun banega Nanha Kalam  Objectives of the mission

  • To generate interest in science based activity in the children of the district  and developing scientific temper within the children.
  • Revamping pedagogical practices by emphasising on active learning instead of instruction based rote-learning.
  • Develop critical thinking, scientific temper and the courage to ask questions in students
  • Develop self-confidence & initiative in children,spark their curiosity and creativity , generate attraction for aesthetics, art and truth
  • Promoting environment of healthy competition among students and developing aspiration for academic excellence in them.
  • Engaging the teachers, faculty, parents in the learning process of the child
  • They can become good citizens of the country.

प्रथम चरण (विद्यालय स्तर पर)

प्रतियोगिता के प्रथम चरण में वेबसाइट के माध्यम से विद्यालयों की सहायता से विद्यार्थियों द्वारा प्रतियोगिता हेतु आवेदन  30-09- 2020  तक होगा । इसके अंतर्गत छात्रों का पंजीकरण, जूनियर वर्ग के लिए कक्षा 6 से 8 तक एवं सीनियर वर्ग के लिए कक्षा 9 व 10 में अलग – अलग किया जायेगा।

Kaun Banega Nanha Kalam Question Paper Answer Key KBNK Exam 2020 jalaun

द्वितीय चरण ( तहसील/ब्लॉक स्तर पर )

प्रतियोगिता हेतु दोनों वर्गो में आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की विज्ञान संदर्भित लिखित एवं बहुविकल्पीय प्रश्नों की एक प्रतियोगिता का आयोजन विभिन्न चयनित केन्द्रों पर किया जायेगा, जिसकी तिथि बाद में घोषित की जाएगी| जिसमें जूनियर वर्ग के 500 एवं सीनियर वर्ग के 500 विद्यार्थियों का चयन तृतीय चरण में होने वाली जनपद स्तरीय परीक्षा हेतु किया जायेगा तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा |


तृतीय चरण ( जनपद स्तर पर )

तृतीय चरण में चयनित जूनियर वर्ग के 500 एवं सीनियर वर्ग के 500 विद्यार्थियों हेतु विज्ञान आधारित विषय पर निबन्ध / प्रश्नोत्तरी / भाषण प्रतियोगिता तथा मॉडल प्रदर्शनी कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा, जिसकी तिथि बाद में घोषित की जाएगी| जिसमें श्रेष्ठतम् अंक प्राप्त करने वाले प्रत्येक वर्ग के 50-50 विद्यार्थियों को चतुर्थ चरण की प्रतियोगिता में प्रतिभाग हेतु चयनित किया जायेगा तथा पुरस्कार स्वरूप प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा |


चतुर्थ चरण ( जनपद स्तर पर )

तृतीय चरण में चयनित जूनियर वर्ग के 50 तथा सीनियर वर्ग के 50 विद्यार्थियों की निम्न पाठ्यक्रम पर आधारित परीक्षा होगी :-


विज्ञान/नवप्रवर्तन माडल निर्माण की प्रक्रिया

  1. रीजनिंग टेस्ट
  2. प्रोजेक्टर टेस्ट
  3. लिखित परीक्षा

उपरोक्त परीक्षा निम्नलिखित विषयों पर आधारित होना प्रस्तावित है :-


  • विज्ञान आधारित प्रश्न
  • समसामयिक वैश्विक समस्याओं पर निबन्ध
  • आकस्मिक समस्यायें और विज्ञान
  • नवाचारात्मक प्रोजेक्ट
  • नवाचारात्मक वैज्ञानिक संभाषण

प्रतियोगिता में चयनित विद्यार्थियों को  “नन्हा कलाम” की उपाधि एवं पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। इस प्रकार जनपद बरेली से परीक्षा में रुपए 21,000 प्रथम पुरस्कार 05 (03 जूनियर वर्ग से एवं 02 सीनियर वर्ग से), रुपए 11,000 द्वितीय पुरस्कार हेतु 05 (03 जूनियर वर्ग से एवं 02 सीनियर वर्ग से) एवं रुपए 5100 तृतीय पुरस्कार हेतु 05 (03 जूनियर वर्ग से एवं 02 सीनियर वर्ग से) तथा रुपए 3000 सान्त्वना पुरस्कार 05 (03 जूनियर वर्ग से एवं 02 सीनियर वर्ग से) और अन्य 80 विद्यार्थियों को प्रतिभागिता  पुरस्कार पुस्तकें, पदक आदि सहित प्रशस्ति/प्रमाण  पत्र प्रदान किया जायेगा।


लक्ष्य समूह

कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद बरेली  के पूर्व माध्यमिक एवं माध्यमिक स्तर के समस्त  विद्यालयों(मदरसा, आश्रम पद्धति, नवोदय विद्यालय, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, पब्लिक तथा प्राईवेट स्कूल, राजकीय हाईस्कूल/इण्टर कालेज, परिषदीय विद्यालय इत्यादि) के जूनियर संवर्ग के विद्यार्थी कक्षा 6-8 तथा सीनियर संवर्ग के विद्यार्थी कक्षा 9-10 सम्मिलित होंगे।


कार्यक्रम के मुख्य बिंदु

कार्यक्रम का नाम ” कौन बनेगा नन्हा कलाम “है।

” कौन बनेगा नन्हा कलाम 2019 ” के सभी चरणो की परीक्षा व कार्यशालाओ की देख रेख व तकनीकी मार्गदर्शन किसी शोध संस्थान अथवा शैक्षणिक संस्थान की कम से कम 03 सदस्य टीम के सहयोग से आयोजित की जा रही है |

बच्चो द्धारा प्रस्तुत मॉडल व प्रोजेक्ट नवाचार युक्त एवं व्यवहारिक होंगे तथा यह अधोलोखित विषयो पर आधारित होंगे :

(क)  दैनिक जीवन में विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी (इसके अंतर्गत यातायात, चिकित्सा, कृषि, संचार, मनोरंजन , शिक्षा, कंप्यूटर आदि क्षेत्र के मॉडल एवं प्रोजेक्ट हो सकते है ।


(ख) अक्षय ऊर्जा के वैकल्पिक श्रोत विकास एवं उपयोग , मानव जीवन के लिए ऊर्जा का महत्व एवं उनका विवेकपूर्ण उपयोग सूर्य ऊर्जा एवं बायोगैस का अधिक प्रयोग एवं ऊर्जा दक्षता ।


(ग) पर्यावरण एवं प्रदूषण – प्राकृतिक संतुलन , प्रदूषण (जल, वायु, ध्वनि आदि ) रोकने के अभिनव प्रयोग एवं समाधान हेतु उपाय ।


(घ) ग्लोबल वार्मिंग – इसके अतिरिक्त बच्चे स्थानीय उद्योग , कृषि व्यापर , उत्पादन कला – कौशल , स्थानीय समस्या निदान हेतु नवाचार उक्त कोई मॉडल प्रोजेक्ट अथवा प्रयोग प्रस्तुत कर सकते है ।


इस कार्यक्रम को चार चरणों में निम्नवत् रूप से सम्पादित किया जायेगा :-


कौन बनेगा नन्हा कलाम ?  (पंजीकरण हेतु क्लिक करें) https://forms.gle/aaeiR4CgWaHfVPgF8

Official website https://jalaun.nic.in/education/kaun-banega-nanha-kalam/

~~~~~~~~~~~~~


कौन बनेगा नन्हा कलाम की वेबसाइट लांच, पंजीकरण शुरु


उरई। कौन बनेगा नन्हा कलाम की तीसरे वर्ष की वेबसाइट डीएम डा. मन्नान अख्तर ने मंगलवार को लांच की। डीएम ने डीआईओएस, बीएसए, खंड शिक्षा अधिकारियों और जिला विज्ञान क्लब के नोडल अधिकारी को निर्देशित किया कि वह कक्षा छह से दस तक के छात्र-छात्राओं को इस प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने के लिए प्रेरित करें और उनकी तैयारी कराए।


डीआईओएस भगवत पटेल ने बताया कि कौन बनेगा नन्हा कलाम के तीसरे वर्ष के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 5 अगस्त से शुरू है। जो 30 सितंबर तक चलेगी।

जूनियर स्तर पर कक्षा छह से आठ तक और सीनियर स्तर पर कक्षा 9 व 10 में पंजीकरण होगा। 30 सितंबर तक पंजीकरण कराए जा सकते है। इसके लिए माध्यमिक स्तर पर अनिल कुमार गुप्ता और शैलेंद्र निरंजन को नोडल अधिकारी बनाया गया है। जबकि बेसिक शिक्षा स्तर पर ब्लाकवार नोडल अधिकारी बनाए गए है। जिसमें उदयवीर निरंजन को रामपुरा, माधौगढ़, अरविंद श्रीवास्तव को कुठौंद जालौन, अखिलेश व्यास को नदीगांव कोंच व अवनेंद्र मिश्रा को कदौरा, महेबा व डकोर ब्लाक की जिम्मेदारी दी गई है।

अभिभावकों व बच्चों से बेहतर तालमेल बनाएं

ई-पाठशाला सुचारु रुप से संचालित करने बीएसए ने दिए निर्देश

उरई। कोरोना संक्रमण के दौर में बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से ई-पाठशाला चल रही है। बीएसए प्रेमचंद्र यादव ने सभी शिक्षकों को निर्देशित किया कि वे अभिभावकों और बच्चों के साथ समन्वय बनाकर ई-शैक्षिक व्यवस्था को सुचारु रुप से संचालित करें।

बीएसए ने कहा कि स्कूल के व्हाइट्सएप ग्रुप से जुड़े कक्षावार, विषयवार, प्रति दिवस उपलब्ध कराई जा रही है। दैनिक शैक्षणिक सामग्री से बच्चों को अध्ययन के लिए प्रेरित करें। दूरदर्शन पर सुबह नौ बजे से एक बजे तक प्रसारित शैक्षणिक कार्यक्रम देखने के लिए बच्चों से कहें। आकाशवाणी पर सुबह 11 से 12 बजे तक शैक्षणिक कार्यक्रम प्रसारित होते है। दीक्षा एप डाउनलोड करें और मिशन प्रेरणा एप यूट्यूब चैनल पर प्रसारित वीडियो को बच्चों को नियमित देखने के लिए कहा। उन्होंने अभिभावकों से कहा कि समस्या होने पर संबंधित शिक्षक से जानकारी कर समस्या का निदान कराए। 



Post a comment

0 Comments