Government Job News Update,SSC, UPSC,UPPSC, Entrance Exam

Sunday, 24 April 2016

Civil Service Exam Interview Preparation Guide in Hindi Advice

Civil Service Exam Interview Preparation Guide in Hindi Advice
ias preparation tips for beginners |  how to prepare for ias UPPSC PCS  prelims without coaching /  free ias  / UP PCS Interview  preparation material  from toppers / ias  pcs lower pcs preparation tips in hindi  / how to prepare for ias exam after 12th /
ias preparation tips for beginners pdf 

साक्षात्कार के कुछ टिप्स.....
" आज शिद्दत से करो
कोशिश चिराग जलाने की ।
कौन जाने तुम्हीं से,
कल रोशन सारा जहां हो ।।"
आपका काम है बिल्कुल शांत भाव से अपनी मेहनत करते रहना। आप तो क्या कोई भी नहीं जानता कि कल क्या होगा । लेकिन कोई ना कोई तो इस दुनिया को नेतृत्व प्रदान करेगा तो वो कोई ,फिर आप क्यों नहीं हो सकते? कल को आप में से ही कोई ना कोई इस दुनिया को दिशा प्रदान करेगा इसलिये क्यों ना आप तैयार हो जाएँ ।
कल के आलेख को आगे बढ़ाते हैं।
सबसे पहले आज पहनावे पर चर्चा करते हैं।
लड़कों के लिए हल्के रंग के कपडे ही अच्छे रहते हैं। विशेषकर शर्ट के लिए सफ़ेद, क्रीम या sky blue रंग तथा पेंट के लिए black या grey रंग सर्वोत्तम रहता है।कपड़ों का चयन मौसम के अनुसार करा जाये।जाड़ों में कोट तथा टाई पहनें तो अच्छा रहेगा।एकदम नए कपड़ों को पहनने से परहेज कीजिये। कम से कम एक या दो बार पहले से पहने हुए हों तो अच्छा।
जूते काले रंग के हों तो बहुत अच्छा। हाँ जूते भी बिल्कुल नए ना हों क्योंकि नए जूते प्रारंभ में पहनने में कुछ परेशानी भी पैदा कर सकते हैं। जूते चाहे नए हों या पुराने भली प्रकार से पोलिश किये हुए हों।
बाल बहुत बड़े ना हों इसलिए साक्षात्कार से 10 दिन पहले बाल सेट करा लें। ठीक एक या दो दिन पहले बाल कटवाना उचित नहीं। कहीं भी ऐसा ना लगे कि साक्षात्कार के लिए अभी अभी कोई नया इंतज़ाम किया गया है। सब कुछ सहज लगना चाहिए। शेविंग करके ही जाएँ और यदि दाढ़ी मूंछ रखते हैं तो वे तरतीब से बने हुए हों। टोपी पहनने से परहेज करें। चेहरे पर हल्की क्रीम लगाना उचित रहेगा। चेहरा एकदम dry रहना नहीं चाहिए। perfume के प्रयोग से बचा जाये और लगाने का मन है तो बहुत हल्का।
महिलायों के लिए साड़ी का प्रयोग अधिक अच्छा रहता है लेकिन यदि आपको साड़ी पहनने का अभ्यास नहीं है या आप असहज महसूस करती हैं तो सलवार सूट पहन सकती हैं लेकिन बहुत चटक रंग के कपड़ों से परहेज किया जाये। हल्के रंग के कपड़े ही अच्छा प्रभाव छोड़ते हैं। बहुत अधिक श्रंगार से बचा जाये। आपके चेहरे पर सहजता बनी रहे और इसी अनुरूप भी श्रंगार किया जाये।
ऊँची हील के सैंडिल ना पहनें। आपके व्यक्तित्व व ज्ञान की गहराई से ही आपको अंक प्राप्त होंगें ना कि आपके चेहरे के आधार पर । लेकिन इसका अर्थ ये भी नहीं कि आप अपनी बाहरी रूप सज्जा पर ध्यान ना दें। आपका पहला परिचय आपके परिधान व आपके हाव भाव ही हैं।आपका पहनावा आपके व्यक्तित्व व exam की प्रकति के अनुरूप होना चाहिए।
साक्षात्कार से पूर्व रात्रि को समय से पूरी नींद लें। ताकि सुबह आपके चेहरे पर सहजता बनी रहे। सुबह उठकर तैयार होकर फटाफट उस सुबह के 2 या 3 प्रमुख अखवार पढ़ जाएँ। हैडलाइन को उतार कर याद कर लें तो अच्छा।
अब थोड़ी देर ईश्वर की साधना करें ताकि आप अपने मन में शांति व शक्ति का संचार महसूस कर सकें।
साक्षात्कार में निर्धारित समय से 30 min पहले पहुंचे।
वहां उपस्थित अन्य अभ्यर्थियों से सामान्य वार्तालाप अच्छा रहता है। लेकिन ऐसे अभ्यर्थियों से थोड़ी दूरी बनाना उचित रहेगा जो बहुत अधिक प्रश्न पूछ रहें हो। ऐसे प्रश्नों के उत्तर ना दे पाने की स्थिति में आप पर अनावश्यक दवाब आएगा। आपको ऐसा लगेगा कि आपको तो कुछ भी नहीं आता और सामने वाले को तो बहुत कुछ आता है। अब आपका selection कैसे होगा। ऐसे ख़तरनाक ज्ञानियों से थोडा दूर ही रहें। हाँ सहज वार्तालाप अवश्य करते रहें ताकि आपके ऊपर कोई दवाब इकट्ठा ना हो पाये। अच्छा रहे कि आप आस पास के वातावरण व लोगों के वार्तालापों का आनंद लें।
एक जरूरी बात जो आपसे कहना चाहता हूँ कि आप आयोग के सभी सदस्यों की योग्यता ,उनके व्यक्तित्व व उनके द्वारा किस प्रकृति के सवाल अधिक पूछे जाते हैं पर अभी से होमवर्क कर लें।ये आपको उस दिन बहुत मदद करेगा। इसके लिए आप अनुभवी लोगों से परामर्श करें।
दूसरी महत्वपूर्ण बात है कि आप अपने साथ थोडा बहुत खाने का सामान अवश्य ले जाएँ । विशेषकर बिस्कुट, सेब व थोड़ी सी किशमिश। किशमिश आपको आवश्यक कार्बोहायड्रेट व ब्लड प्रेशर को नॉर्मल बनाने में मदद करेगी। उत्तर प्रदेश आयोग में एक बार अंदर रूम में प्रवेश के बाद बाहर जा सकने का प्रावधान नहीं है और यदि आपका साक्षात्कार दोपहर बाद आया तो भूख से आपके सिरदर्द भी हो सकता है। अतः थोडा बहुत खाने का सामान ले जाने में संकोच ना करें। ऐसा मौका बार बार नहीं मिलता अतः इस मौके का पूरा लाभ उठाना है।इसलिए स्वस्थ और प्रसन्नचित्त रहने के लिए आप जो भी कर सकते हैं करने में संकोच ना करें। जैसे ही आपका नंबर बुलाया जाये आप पूरी प्रसन्नता से उठें और साक्षात्कार रुम के बाहर कुर्सी पर शांतचित्त होकर बैठ जाएँ। गहरी सांसें लेना आपको लाभ देगा। इससे आपके ऊपर इकठ्ठा दवाब को हल्का होने में मदद मिलेगी।
जैसे ही आपका नंबर आये पूरी सहजता के साथ कमरे में प्रवेश करें। प्रवेश करते समय हड़बड़ी ना दिखाएँ। चेयरमैन को उन्मुख होते हुए सभी को प्रणाम कहें। यदि बोर्ड में कोई महिला सदस्य भी है तो उन्हें पृथक से प्रणाम करना उचित रहेगा। जब तक आपसे ना कहा जाये कुर्सी पर ना बैठे। कुर्सी पर बैठने की जल्दबाजी ना दिखाए। जैसे ही आपको बैठने की अनुमति मिल जाये धन्यवाद कह कर सहजता से बैठ जाएँ। पैर के ऊपर पैर चढ़ा कर बिल्कुल ना बैठे। दोनों पैर सीध में हों और आपके हाथ दोनों पैरों पर हों। मेज़ का सहारा लेकर ना बैठें । कमर सीधी रहे। और सबसे महत्वपूर्ण है कि आपके चेहरे पर हर समय एक सहज मुस्कान रहनी चाहिए। आप घर पर ही सहज बने रहने का अभ्यास कर लें इससे आपको वहां भी सहज बने रहने में मदद मिलेगी।
बाकी की बातें कल।
आशा करता हूँ आपको मेरी बताई बातें अच्छी लगेंगी। हो सकता है कि आप मेरी किसी बात से सहमत ना हों परंतु आप " सार सार को गहि रहे , थोथा देई उड़ाय" को चरिर्तार्थ करते हुए अपने लाभ की बात को चुन लेंगें।
आपके किसी भी सुझाव व प्रश्न का ह्रदय से स्वागत रहेगा। अपनी प्रतिक्रिया से अवश्य अवगत कराएं ।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

उत्तर प्रदेश सम्मिलित राज्य अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा के साक्षात्कार हेतु कुछ सुझाव .....
" खुशगवार महक,सुर्ख रंगत,
पंखुड़ियों की नज़ाकत
जब सारी चीज़ मिलती हैं,
तब गुलाब बनता है ।।"
साक्षात्कार में सफलता भी कुछ इसी तरह है। सफलता के लिए कई सारे तत्वों का होना बहुत जरूरी है तभी सफलता का गुलाब महकेगा। कड़ी मेहनत के अलावा प्रभावशाली व्यक्तित्व, प्रबल आत्मविश्वास, मुस्कुराता हुआ चेहरा, हाज़िरजवाबी,सटीक और संतुलित उत्तर देने की कला और भी अनेक तत्व साक्षात्कार में सफलता के लिये आवश्यक हैं। हम इन सभी तत्वों पर एक एक करके चर्चा करेंगें।
सर्वप्रथम अपने आत्मविश्वास को कतई भी कम ना होने दें चाहे ये आपका पहला साक्षात्कार हो या इससे पूर्व आप इसमें असफल हो चुके हों। सफल अभ्यर्थी प्रायः कम दवाब महसूस करते हैं लेकिन असफल अभ्यर्थी या पहली बार साक्षात्कार देने वाले अभ्यर्थी ज्यादा दवाब महसूस करते हैं। लेकिन मेरा विचार है कि ज्यादा दवाब में बिखर ज्यादा जाते हैं । बहुत ही निराले लोग अत्यंत दवाब में भी अच्छा प्रदर्शन कर पाते हैं और ऐसे ही लोग सच में महान कहलाते हैं लेकिन ज्यादातर लोग दवाब में अपना स्वाभाविक प्रदर्शन भी नहीं कर पाते अतः मेरा ऐसे अभ्यर्थियों से निवेदन है कि किसी भी स्तर पर अपने ऊपर दवाब एकत्र ना होने दें। कभी कभी ऐसा भी होता है कि साक्षात्कार के दौरान शुरू के ही 4 या 5 सवाल हम या तो बता नहीं पाते या हमें उनके उत्तर अच्छे से पता नहीं होते और उस परिस्थिति में एकदम दवाब में आकर बिल्कुल निराश हो जाते हैं और बिखर से जाते हैं । वास्तव में वही समय होता है जब आप अपने ऊपर दवाब ना बनने दें। स्वयं को प्रोत्साहित करें। आवश्यक नहीं शुरू की 4 या 5 बॉल आपके बैट पर आएं लेकिन चिंता ना करे अच्छी बॉल की प्रतीक्षा करें और आते ही बॉल सीधे सीमा रेखा के पार पहुंचा दें। मतलब ...जिस भी प्रश्न का उत्तर आपको आता हो उसका उत्तर पूरे आत्मविश्वास और सहजता से दें । भले ही उससे पूर्व के प्रश्नों का उत्तर आप ना दे पाये हों। अधिकांश अभ्यर्थी हर प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करते हैं भले ही अच्छे से जवाब ना दे पाएं । ऐसा कदापि ना करें।
आईये सर्वप्रथम साक्षात्कार से पूर्व की तैयारियों के विषय में चर्चा करें।
सर्वप्रथम साक्षात्कार की प्रकृति जानें कि किस प्रकार के प्रश्न अधिक पूछे जाते हैं।
प्रायः लोअर में साक्षात्कार की अवधि 10 से 15 मिनट अधिकतम होती है ( विगत अनुभवों के आधार पर) अतः व्यक्तित्व संबंधी प्रश्न अधिक नहीं हो पाते और ज्ञानात्मक प्रकृति के प्रश्न ही अधिक पूछे जाते हैं। फिर भी अपने व्यक्तित्व से सम्बंधित प्रश्नों की भली प्रकार तैयारी कर लें। विशेषकर अपनी व्यक्तित्व संबंधी विशेषतायें, अपनी रुचियाँ, अपनी कमजोरियाँ आदि से जुड़े प्रश्नों के उत्तर अच्छे से तैयार कर लें।
कुछ सुझाव---
1. अपनी आत्मप्रशंसा से बचें। अपनी उपलब्धियों के बारे में सहजता से ही बताएं उसमें कहीं भी आत्मश्लाघा या घमण्ड ना दिखे।
2.अपनी वास्तविक उपलब्धियों का ही उल्लेख करें । अपनी उपलब्धियों को बढ़ा चढ़ा कर पेश ना करें ।कहीं ऐसा ना हो इस चक्कर में आप फंस जाएँ।
3. अपनी उन कमजोरियों का उल्लेख ना करें जो आपको कहीं उस पद के अयोग्य ना साबित कर दे।
जैसे निर्णय ना ले पाना या देर से लेना। ये ऐसी कमजोरी है जो आपको अयोग्य साबित कर सकती है क्योंकि प्रशासनिक अफसरों का काम ही है त्वरित और सटीक निर्णय लेना।
4. अपनी उन्हीं रुचियों का उल्लेख करें जिसके विषय में आप अच्छी जानकारी रखते हों और जिसमें या तो बहुत अधिक प्रश्नों की गुंजाइश ना हो या आप उस विषय में किसी भी प्रश्न का उत्तर सहजता से दे पाएं। बेहतर है कि आप अपनी रुचियों को सूक्ष्म कर लें। जैसे आप यदि कहते हैं कि आपको उपन्यास पढ़ने का शौक है तो आप इस बात का उल्लेख अवश्य कर दें कि किस लेखक के उपन्यास आप अधिक पढ़ते हैं। अन्यथा ऐसा ना हो साक्षात्कार लेने वाले व्यक्ति आप से ऐसे उपन्यास के विषय में ना पूछ लें जो आपने पढ़ा ही ना हो। लेकिन आप यदि किसी लेखक के नाम का उल्लेख करें तो उसके विषय में आपको अच्छा ज्ञान भी होना चाहिए।
5. सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है कि यदि आपने कहीं कोचिंग नहीं की है या नहीं कर सकते हैं ( कोचिंग सिर्फ आपकी सफलता में मददगार अवश्य हो लेकिन आवश्यक नहीं कि आपने कहीं कोचिंग नहीं की है तो आप सफल नहीं हो सकते। ) तो 2 या 3 साथियों का एक समूह बना लें जो आपस में ही एक दूसरे का छद्म
साक्षात्कार ले सकें। इस प्रकार के mock interview आपकी hesitation निकालने के लिए जरुरी है।
यदि आपने अभी तक ऐसा नहीं किया है तो तत्काल करें। एक जगह नियत करके mock interview conduct करें।वहां उसी ईमानदारी से उत्तर दें जैसे आयोग में देते हैं। फिर आपने किस प्रकार उत्तर दिए उसमे क्या कमियां रह गयीं उन पर खुल कर चर्चा करें। और अपने मित्रों द्वारा बताई गयी कमियों को आलोचना ना समझ उन्हें गहराई से लें और आवश्यक सुधार करें। हाँ आप घर पर बड़े दर्पण के सामने उत्तर देने का प्रयास करें इससे आपको अपनी भाव भंगिमाओं को सुधारने का मौका मिलेगा। साक्षात्कार के समय ज्यादा हाथ चलाना या चेहरे पर विभिन्न भाव भंगिमा तेजी से बदलना अच्छा नहीं होता। उत्तर जितना सहजता से दिया जायेगा उतना ही प्रभावशाली बन पायेगा अतः दर्पण के सामने बैठ कर अपने हस्त-सञ्चालन और भाव भंगिमाओं को सहज बनाने की practise करें। mock interview लेते या देते समय cross questioning को अधिक महत्व दें ।
कल पुनः इसी चर्चा को आगे बढ़ाएंगे। आशा है आप इन बातों को गंभीरता से लेंगे और यदि आप मेरी किसी बात से असहमत हों तो उसे उदारता से क्षमा कर देंगें। आपके सुझाव व् प्रश्नों की प्रतीक्षा अवश्य रहेगी। आगामी श्रृंखला में हम सभी बिंदुओं पर विषद चर्चा करेंगे।
 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~साक्षात्कार हेतु कुछ टिप्स....
" कौन कहता है कि आसमाँ में
छेद नहीं हो सकता ।
एक पत्थर तो तबियत
से उछालो यारो।। "
-- दुष्यंत कुमार
सच तो यही है मित्रो कि आप चाहें तो हर हर असंभव को संभव बना सकते हैं।
IMPOSSIBLE itself says that I M POSSIBLE.
अभी तक जो सफलता आपको नामुमकिन सी लग रही है वो बहुत शीघ्र ही मुमकिन हो सकती है बस थोडा धैर्य रखिये।
वैसे भी सिविल सेवा परीक्षा धैर्य की परीक्षा है। ये आपके ज्ञान से ज्यादा आपके धैर्य का परीक्षण करती है।
आईये कल की श्रृंखला को आगे बढ़ाते हैं।
साक्षात्कार के लिए 2 या 3 गंभीर मित्रों या अपने सीनियर का समूह बनाकर छद्म साक्षात्कार conduct कीजिये।
सम सामयिकी पर अधिक ध्यान दीजिये।आईये जाने कि किन क्षेत्रों पर अधिक ध्यान देना है।
1. हाल ही में ( कम से कम विगत 6 माह) बने नए राष्ट्राध्यक्षों के नाम याद कर लीजिये। विशेषकर महिला राष्ट्राध्यक्षों के नाम।
2. प्रधानमंत्री की यात्राओं का क्रमानुसार वर्णन। जिन जिन देशों में गए उन देशों की राजधानियाँ, राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम तथा किये गए समझोते अवश्य याद कर लीजिये। राष्ट्रपति महोदय की यात्राओं का भी गहन अध्ययन कर लीजिये।
3. कौन कौन से राष्ट्राध्यक्ष भारत आये और वे कहाँ कहाँ गए और उनके साथ क्या समझौते हुए उन्हें अवश्य याद कर लीजिये।
4. भारत द्वारा हाल ही में छोड़ी गयी मिसाइलों तथा उपग्रहों का विशेष अध्ययन कर लीजिये।
5. भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलायी गयी योजनाओं पर विशेष विशेष ध्यान दीजिये। योजनाओं का विस्तृत अध्ययन कर लीजिये विशेषकर उनके लाभ व उनके समाज पर प्रभाव का । इन योजनाओं को इस प्रकार सूचीबद्ध कर लीजिये जैसे - महिलाओं व बालकों के कल्याणरार्थ, दलितों के उत्थान हेतु योजनाएं, अल्पसंख्यकों के कल्याण हेतु योजनाएं, ग्रामीण क्षेत्रों व शहरी क्षेत्रों हेतु अलग अलग योजनाएं, शिक्षा से जुडी योजनाएं व अन्य महत्वपूर्ण योजनाएं।
6. पुरस्कारों को अच्छे से याद कर लीजिये। विशेषकर भारत व उत्तर प्रदेश सरकार के पुरस्कारों को । पद्म विभूषण , पद्म भूषण व अन्य साहित्यिक पुरस्कार अच्छे से याद कर लें। किसी भारतीय को यदि कोई विदेशी पुरस्कार मिला है तो उसे विशेष ध्यान दें।
7. बजट संबंधी प्रश्नों पर भी ध्यान दें। विशेषकर राष्ट्रीय आय , देश की व प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय। महत्वपूर्ण बजटीय उद्घोषणायों को अवश्य याद कर लें।
8. महिला अभ्यर्थिनी महिलाओं से जुडी विशेष घटनाओं को , योजनाओं को, अच्छे से याद कर लें। महिला सशक्तिकरण से सम्बंधित प्रयासों और समस्याओं को तैयार कर लें।
9. बड़ी खेल घटनाओं पर भी ध्यान दे लें। विशेषकर विभिन्न क्रिकेट टीमों के कप्तानों व कोचों के नाम तथा भारतीय हॉकी टीम, फुटबॉल टीम आदि के कप्तानों व कोचों के नाम अवश्य याद कर लें।
10. साक्षात्कार से 1 सप्ताह पूर्व की घटनाओं पर तो विशेष ही ध्यान देना है। साक्षात्कार वाले दिन के अखवार तो अवश्य पढ़ कर जाएँ और प्रमुख अखवारों की हैडलाइन तो अवश्य याद कर लें। जिन अखवारों या पत्रिकाओं को आप नियमित पढ़ते हैं उनके संपादकों के नाम भी अवश्य याद हों।
श्रृंखला के अग्रिम अंकों में आप इसी प्रकार और भी सुझावों को पढ़ेंगे। आशा है आप इनसे अवश्य लाभान्वित होंगे। आपके सुझाव व प्रश्न सादर आमंत्रित हैं।

आपका अपना,
श्याम सुन्दर पाठक
P.C.S.
असिस्टेन्ट कमिश्नर
सेल्स टैक्स, आगरा

Sponsored link