Government Job News Update,SSC, UPSC,UPPSC, Entrance Exam

Sunday, 31 January 2016

UPPSC Lower PCS Interview Questions Tips Tricks Strategy Free Study material online

Uttar pradesh Public service commission every year conduct state level written examination for the recruitment of Combined State lower subordinate services. This examination is also known as a Lower PCS. Every year more then 4 lakh candidates are appearing in sammilit Rajya Avar adhinasth Bharti sewa pariksha but very few candidates declared qualified in this examination. Commission conduct first of all preliminary examination for screening purpose, after that those candidates who are declared qualified in Pre exam, they called for mains examination. In the last all those candidates who declared qualified in the Pre and mains examination they called for Personal interview test.
Upjob.in continuously trying to Publish free study material for the preparation of civil Service Examination. Now we brought important question for the preparation of lower pcs examination.  Hope following tips and Trick will definitely  help you in the preparation of you Lower PCS examination. Following advises was given by Shiv Kumar Singh and he is working as UP PCS officer.
Hope his advises will be defiantly will help you in the preparation of your Lower PCS interview. We will try to update here previous year interview questions for Upcoming Interview of UP PSC
लोअर pcs साक्षात्कार से सम्बन्धित कुछ सुझाव 
1-ड्रेस कोड फॉर्मल होना चाहिए । जीन्स का पेंट और स्पोर्ट्स वाले जूते पहन के न जाय ।
2-टाई लगा भी सकते है नहीं भी ज्यादा फर्क नहीं पढता है ।
सर्दी होने के कारण आप सूट अगर है तो।पहन लीजिये नहीं है तो कोई बात नहीं ।परेसान हताश होने की आवश्यकता नहीं है ।Download more Free civil Service Exam preparation guide and free study material
3-एक रुमाल जरूर रख लेना ,पसीना तो होगा ही ।
4-एक कलम रख के जाइए ।
5-पुरे डॉक्यूमेंट ले के जाना ओरिजिनल और फ़ोटो कॉपी सहित
6- अब पढाई से सम्बंधित कुछ निर्देश
रोज समसामायिक पढ़ते रहे । दो बातों का आपलोग ध्यान रखे
अगर साक्षात्कार खराब हुआ तो लिखित परीक्षा आप का चयन करा देगा और अगर लिखित बुरा हुआ है तो साक्षात्कार आपका चयन करा देगा अतः खुश रहो मस्त रहो बस रोज थोडा बहुत पढ़ते रहो ।
क- वर्तमान के मुद्दों पे विशेष र्रूप से असहिष्णुता क्या है ।
क्यों है कैसे वगैरह वगैरह
ख - उस दिन का समाचार पत्र पढ़ के जाइए जिसदिन आपका साक्षात्कार होने वाला है ।
थोडा विज्ञानं और पॉलिटी के अनुच्छेद देख के जाइयेगा ।
ग-जो भी बोलियेगा पुरे आत्म विश्वास के साथ बोलियेगा ।
7-वहां आपको बहुत ऐसे लोग मिलेंगे जिनमे आपकी रूचि बिलकुल नहीं होगी लेकिन आपको कूल रहना है ।किसी प्रकार का मानसिक दबाव पैदा नहीं होना चाहिए ।
8-ज्यादा घबराहट होने लगे तो पानी पी लेना पर परेसान तो बिलकुल मत होगा ।
9-ताल ठोक के अन्दर जाना मैं आश्वस्त हु आप ताल ठोक के ही बाहर आवोगे ।

उत्तर प्रदेश सम्मिलित राज्य अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा के साक्षात्कार हेतु कुछ सुझाव .....
" खुशगवार महक,सुर्ख रंगत,
पंखुड़ियों की नज़ाकत
जब सारी चीज़ मिलती हैं,
तब गुलाब बनता है ।।"

साक्षात्कार में सफलता भी कुछ इसी तरह है। सफलता के लिए कई सारे तत्वों का होना बहुत जरूरी है तभी सफलता का गुलाब महकेगा। कड़ी मेहनत के अलावा प्रभावशाली व्यक्तित्व, प्रबल आत्मविश्वास, मुस्कुराता हुआ चेहरा, हाज़िरजवाबी,सटीक और संतुलित उत्तर देने की कला और भी अनेक तत्व साक्षात्कार में सफलता के लिये आवश्यक हैं। हम इन सभी तत्वों पर एक एक करके चर्चा करेंगें।
सर्वप्रथम अपने आत्मविश्वास को कतई भी कम ना होने दें चाहे ये आपका पहला साक्षात्कार हो या इससे पूर्व आप इसमें असफल हो चुके हों। सफल अभ्यर्थी प्रायः कम दवाब महसूस करते हैं लेकिन असफल अभ्यर्थी या पहली बार साक्षात्कार देने वाले अभ्यर्थी ज्यादा दवाब महसूस करते हैं। लेकिन मेरा विचार है कि ज्यादा दवाब में बिखर ज्यादा जाते हैं । बहुत ही निराले लोग अत्यंत दवाब में भी अच्छा प्रदर्शन कर पाते हैं और ऐसे ही लोग सच में महान कहलाते हैं लेकिन ज्यादातर लोग दवाब में अपना स्वाभाविक प्रदर्शन भी नहीं कर पाते अतः मेरा ऐसे अभ्यर्थियों से निवेदन है कि किसी भी स्तर पर अपने ऊपर दवाब एकत्र ना होने दें। कभी कभी ऐसा भी होता है कि साक्षात्कार के दौरान शुरू के ही 4 या 5 सवाल हम या तो बता नहीं पाते या हमें उनके उत्तर अच्छे से पता नहीं होते और उस परिस्थिति में एकदम दवाब में आकर बिल्कुल निराश हो जाते हैं और बिखर से जाते हैं । वास्तव में वही समय होता है जब आप अपने ऊपर दवाब ना बनने दें। स्वयं को प्रोत्साहित करें। आवश्यक नहीं शुरू की 4 या 5 बॉल आपके बैट पर आएं लेकिन चिंता ना करे अच्छी बॉल की प्रतीक्षा करें और आते ही बॉल सीधे सीमा रेखा के पार पहुंचा दें। मतलब ...जिस भी प्रश्न का उत्तर आपको आता हो उसका उत्तर पूरे आत्मविश्वास और सहजता से दें । भले ही उससे पूर्व के प्रश्नों का उत्तर आप ना दे पाये हों। अधिकांश अभ्यर्थी हर प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करते हैं भले ही अच्छे से जवाब ना दे पाएं । ऐसा कदापि ना करें।
आईये सर्वप्रथम साक्षात्कार से पूर्व की तैयारियों के विषय में चर्चा करें।
सर्वप्रथम साक्षात्कार की प्रकृति जानें कि किस प्रकार के प्रश्न अधिक पूछे जाते हैं।
प्रायः लोअर में साक्षात्कार की अवधि 10 से 15 मिनट अधिकतम होती है ( विगत अनुभवों के आधार पर) अतः व्यक्तित्व संबंधी प्रश्न अधिक नहीं हो पाते और ज्ञानात्मक प्रकृति के प्रश्न ही अधिक पूछे जाते हैं। फिर भी अपने व्यक्तित्व से सम्बंधित प्रश्नों की भली प्रकार तैयारी कर लें। विशेषकर अपनी व्यक्तित्व संबंधी विशेषतायें, अपनी रुचियाँ, अपनी कमजोरियाँ आदि से जुड़े प्रश्नों के उत्तर अच्छे से तैयार कर लें।
कुछ सुझाव---
1. अपनी आत्मप्रशंसा से बचें। अपनी उपलब्धियों के बारे में सहजता से ही बताएं उसमें कहीं भी आत्मश्लाघा या घमण्ड ना दिखे।
2.अपनी वास्तविक उपलब्धियों का ही उल्लेख करें । अपनी उपलब्धियों को बढ़ा चढ़ा कर पेश ना करें ।कहीं ऐसा ना हो इस चक्कर में आप फंस जाएँ।
3. अपनी उन कमजोरियों का उल्लेख ना करें जो आपको कहीं उस पद के अयोग्य ना साबित कर दे।
जैसे निर्णय ना ले पाना या देर से लेना। ये ऐसी कमजोरी है जो आपको अयोग्य साबित कर सकती है क्योंकि प्रशासनिक अफसरों का काम ही है त्वरित और सटीक निर्णय लेना।
4. अपनी उन्हीं रुचियों का उल्लेख करें जिसके विषय में आप अच्छी जानकारी रखते हों और जिसमें या तो बहुत अधिक प्रश्नों की गुंजाइश ना हो या आप उस विषय में किसी भी प्रश्न का उत्तर सहजता से दे पाएं। बेहतर है कि आप अपनी रुचियों को सूक्ष्म कर लें। जैसे आप यदि कहते हैं कि आपको उपन्यास पढ़ने का शौक है तो आप इस बात का उल्लेख अवश्य कर दें कि किस लेखक के उपन्यास आप अधिक पढ़ते हैं। अन्यथा ऐसा ना हो साक्षात्कार लेने वाले व्यक्ति आप से ऐसे उपन्यास के विषय में ना पूछ लें जो आपने पढ़ा ही ना हो। लेकिन आप यदि किसी लेखक के नाम का उल्लेख करें तो उसके विषय में आपको अच्छा ज्ञान भी होना चाहिए।
5. सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है कि यदि आपने कहीं कोचिंग नहीं की है या नहीं कर सकते हैं ( कोचिंग सिर्फ आपकी सफलता में मददगार अवश्य हो लेकिन आवश्यक नहीं कि आपने कहीं कोचिंग नहीं की है तो आप सफल नहीं हो सकते। ) तो 2 या 3 साथियों का एक समूह बना लें जो आपस में ही एक दूसरे का छद्म
साक्षात्कार ले सकें। इस प्रकार के mock interview आपकी hesitation निकालने के लिए जरुरी है।
यदि आपने अभी तक ऐसा नहीं किया है तो तत्काल करें। एक जगह नियत करके mock interview conduct करें।वहां उसी ईमानदारी से उत्तर दें जैसे आयोग में देते हैं। फिर आपने किस प्रकार उत्तर दिए उसमे क्या कमियां रह गयीं उन पर खुल कर चर्चा करें। और अपने मित्रों द्वारा बताई गयी कमियों को आलोचना ना समझ उन्हें गहराई से लें और आवश्यक सुधार करें। हाँ आप घर पर बड़े दर्पण के सामने उत्तर देने का प्रयास करें इससे आपको अपनी भाव भंगिमाओं को सुधारने का मौका मिलेगा। साक्षात्कार के समय ज्यादा हाथ चलाना या चेहरे पर विभिन्न भाव भंगिमा तेजी से बदलना अच्छा नहीं होता। उत्तर जितना सहजता से दिया जायेगा उतना ही प्रभावशाली बन पायेगा अतः दर्पण के सामने बैठ कर अपने हस्त-सञ्चालन और भाव भंगिमाओं को सहज बनाने की practise करें। mock interview लेते या देते समय cross questioning को अधिक महत्व दें ।
कल पुनः इसी चर्चा को आगे बढ़ाएंगे। आशा है आप इन बातों को गंभीरता से लेंगे और यदि आप मेरी किसी बात से असहमत हों तो उसे उदारता से क्षमा कर देंगें। आपके सुझाव व् प्रश्नों की प्रतीक्षा अवश्य रहेगी। आगामी श्रृंखला में हम सभी बिंदुओं पर विषद चर्चा करेंगे।
Thanks and Credit Goes to 
Shiv Kumar Singh Sir, Assistant Commissioner Sale

Sponsored link