Government Job News Update,SSC, UPSC,UPPSC, Entrance Exam

Sunday, 24 April 2016

UPPSC preparation Study Material strategy Tips and guide

UPPSC preparation Study Material strategy Tips and guide Online, Exam Preparation , interview preparation for UP PCS , Lower PCS pre , Mains , RO / ARO  , and APO examination  General Study, GS, General Knowledge GK, Samanya Adhyan, CSAT by Expert
If you also filled the application form for UPPSC Lower Subordinate (Lower PCS ) , Upper Subordinate (PCS ) , APO , RO (Review officer / Samiksha adhikari ) / ARO (Sahayak Samiksha adhikari / Assistant review officer ) then without having a good strategy you can’t crack even preliminary examination of Up Lok sewa ayog .  Without having good guidance it would be difficult to cover the entire syllabuses which are specified by UPPSC for these examinations. Maximum all coaching institutes now days providing repeated and same study material which are insufficient for cracking this civil service competitive examination. That’s why Upjob.in continuously publishing UPPSC preparation Material, strategy and Tips  guide by leading advisors . now we brought general knowledge GK preparation tips technique  in Hindi .  These suggestions are given by mr shiv kumar singh and he is selected as a PCS officer of UPPSC. Hope following study material will be helpful in preparation of your exam.

नमस्कार  मित्रों !
अब आपको संयमित पढाई करनी है क्योंकि शायद वक्त की मांग भी यही है और तेजी से गुज़रते लम्हों में खुद का नाम लिख जाना कितना अहम् होता है ये तो आप जानते ही होंगे ।कुछ रणनीतिया सोचा आपसे शेयर करू ।
1- अब एक एक क्षण आपके लिए निर्णायक होगा क्योंकि लोगों की कतार बहुत लंबी है और किसी का लक्ष्य पीछे रहना नही है ।अतः सावधान रहिये ।समय का सदुपयोग कीजिये और एकदम लक्ष्य केंद्रित हो जाइए ।
2- पहले भी कह चुका हु कि uppcs में करेंट अफेयर्स एक ट्रम्प कार्ड यानि जबरदस्त निर्णायक की तरह होता है क्योंकि इसमें 30 से ज्यादा ही प्रश्न आते है अतः रोज इसका अध्ययन अति आवश्यक है ।सामाचार पत्र रोज पढ़िए -अमर उजाला ,दैनिक जागरण या जो भी आपके पास हो । उसका नोट्स बनाइये । अगस्त से फरबरी तक का अच्छे से तैयार रखिये । पत्रिका में प्रतियोगिता दर्पण का प्रयोग मासिक रूप से कीजिये या इसका application भी आता है । मोबाइल के play store में जाके प्रतियोगिता दर्पण सर्च करके डाउनलोड कीजिये और वही से पढ़िए। online tyari एप्लीकेशन भी एक बेहतर विकल्प है ।इसे भी व्ही से डाउनलोड कीजिये ।
3-बाकी सब विषय तो आप पढ़ ही रहे है। याद रखिये जो प्रश्न रेपेटेड हो वो गलत नही होने चाहिए ।इसके लिए विषयों को बार बार पढ़िए। राजब्यावस्था को ठीक से तैयर कीजिये प्रश्न आसान होते है ।
4-जो पढ़ो उसपे मनन चिंतन कीजिये ताकि वो स्थाई बन सके । ज्यादा लोगों से उलझने से बचिए ।समय का दुरुपयोग अब नही कीजिये ।
धन्यवाद!
लोअर pcs मुख्य परीक्षा की तैयारी हेतु दिशानिर्देश smile emoticon
1-जो लोग 100 प्रश्न के आस पास है वो मुख्य परीक्षा में लग जाय । होना न होना बाद में देखा जाएगा ।चूँकि पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा भी 20 मार्च को ही है अतः आपको मन से लगना होगा।
2-हिंदी के लिए आदित्य पब्लिकेशन की बुक लीजिये जो लोअर मुख्य परीक्षा के लिए आई हो ।जो पत्र अक्सर आते है उन्हें लिख के याद करे और फार्मेटिंग अच्छे से तैयार रखे ।
3-निबन्ध के लिए स्पेक्ट्रम पढ़ सकते है और याद रखिये निबंध लिखने का आप जितना अभ्यास करेंगे वो उतना ही लाभप्रद होगा । रोज कुछ न कुछ जरूर लिखिए । इसमें सुन्दर वाक्यांश डालने न भूले जैसे -यत्र नार्यस्तु पूज्यंते ,रमन्ते तत्र देवता
4-लिखित परीक्षा पूर्व लेखन अभ्यास पे आधारित है
5-चूँकि मुख्य परीक्षा से पहले आपको पीसीएस प्री भी देना है अतः आपको सामान्य अध्ययन पढ़ना एकदम जारी रखना है ताकि एक तीर से दो निशान । समसामयिक रोज पढ़िए ।
6-लोअर पीसीएस मुख्य परीक्षा में कंप्यूटर से सम्बंधित प्रश्न भी आता है अतः इसे देख के जाइए । इसके लिए Pariksha Manthan परीक्षा मंथन की बुक देख लीजिये या कोई और जो आपको सही लगे ।
7- समसामायिक के लिए GS Hindi v दैनिक समसामायिकी का अनुशरण कीजिये ।
धन्यवाद !
शिव कुमार सिंह
Uppcs 2016 prelims special..

उत्तर प्रदेश राज्यस्तरीय सिविल सेवा परीक्षा सम्बंधित विशेष रणनीति ।_________________________________
1-समसामायिक आज से रोज पढ़िए और खुद का नोट्स बनाइये। आप लोअर देकर समसामायिक के महत्व को समझ ही चुके होंगे ।कम से कम 30 प्रश्न तो आने है ।
2-पुराने साल के प्रश्नो को एकदम याद कर लीजिये । प्रश्नो की पुनरावृत्ति होनी ही है । उसके लिए आप( घटना चक्र )की समस्त सीरीज ले सकते है ।साथ की इतिहास के लिए" (युथ कॉम्पटीशन टाइम्स) की " की भारतीय इतिहास भी ले लीजिये
3-कृषि से सम्बंधित प्रश्न भी uppcs में अच्छे खासे पूछे जाते है अतः इसपे भी आपको ध्यान देना होगा । इसके लिए आप निन्म पुस्तक का अनुसरण करे -(घटना चक्र और परीक्षा वाणी )साथ ही साथ करेंट से जो मिले ।
4-भूगोल के लिए भी आपको घटना चक्र के साथ परिक्षावाणी से फैक्ट रटने है ।साथ ही एक बार वर्णवाल भी देखिये अगर समय हो तो नहीं तो कोई बात नहीं । और पर्यावरण व् पारिस्थितिकी के लिए विज़ार्ड व् परीक्षा वाणी की बुक देखिये ।
5-संविधान के लिए आप घटना चक्र व् परीक्षा वाणी पढ़िए और याद कीजिये । विज्ञानं के लिए ncert की पुस्तक ,घटना चक्र और लुसेंट की सामान्य विज्ञान आपको पढ़नी है ।
6-जिन्हें पढ़ने मात्र से याद नहीं हो रहा हो वो लिख के याद करे
जितनी बार आप कर सकते है ।चुकी csat मात्र क्वालीफाई है तो आपको उसपे ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है ।
7-ये सब पुस्तके आपको बुकस्टाल पे मिल जायेगी ।इसकी लिए मुझे sms न करे मैं किसी को उपलब्ध नहीं करा सकता हु ।
8-ये अंतिम दौर चल रहा है आप चाहे तो इतिहास लिख लो या फिर जीवन को कोरा ही रहने दो ।याद रखिये ये लड़ाई ऐसी है जिसमे कुछ हासिल करने के लिए बड़ी कुर्बानि देनी होती है ।
शिव कुमार सिंह
असिस्टेंट कमिश्नर
वाणिज्य कर

नमस्कार दोस्तों !
धड़कने तो बढ़ गई होंगी आपकी और सही बात है आखिर क्यों न बढे धड़कने ।एग्जाम सर पे है और बेरोज़गारी का दाग तो मानों ऐसे पैठ जमा लिया हो कि छुटने का नाम ही न ले रहा हो और ऐसे में जब मौक़ा मिलेगा तो डर के साथ में एक अज्ञात संशय तो रहेगा ही कि कही ये मौक़ा भी न चूक जाय ।
इस स्थिति में धड़कन का बढ़ना तो लाज़मी ही है । दिन घटता जा रहा है और समय आपके मस्तिष्क पे बोझ डाले जा रहा है ऐसी परिस्थिति में बस आपको धैर्य बनाये रखना है।इस स्थिति से हर किसी को गुजरना होता है क्योंकि जीत का रास्ता इसे लांघने के बाद ही मिलता है । और मेरे ब्यक्तिगत विचार तो यही है कि जिनकी धड़कन न बढे वो एग्जाम को लेके गंभीर ही नहीं है ।
इन चन्द दिनों के लिए आपको कुछ सुझाव दूंगा ।
1-केवल वही पढ़े जो पहले से पढ़े है
2-समसामायिक रोज पढ़िए ।
3-कुछ दिन सब मोहमाया त्याग दीजिये ।
4-खाते पीते सोते एक ही चीज़ खटके आपका लक्ष्य
5-अनावश्यक किसी की बातों में न उलझे । कट ऑफ को लेकर अभी कोई बहस बाजी न करे तो बेहतर होगा ।
6-आप कर सकते है बस करने का वो भाव जगाये रखिये ।

17 जनवरी को लोअर प्री है । अब वक्त कुछ नया पढ़ने का नहीं है ।आपको अब निम्न बिंदुओं पे ध्यान देना होगा ।
1-20 दिन सोशल नेटवर्किंग साईट से दूर रहे ।
2- आज तक का करेंट पढ़ना है आपको
3- इतिहास और भूगोल और राजब्यवस्था और करेंट रोज पढ़िए
4-जिनका मैथ्स और रेजोनिंग कमजोर है वो थोडा वक्त इसपे दे ।
5-फिर से कह रहा हु करेंट रोज पढ़िए और सोचिये ताकि आपको याद रहे
6- कुछ दिन अंडर ग्राउंड रहिये तो ज्यादा बेहतर है । मैं पोस्ट भेजता रहुगा लेकिन जो लोग लोअर दे रहे है वो इसमें न उलझे तो अच्छा होगा
7-ये अंतिम दौर होता है जो भी इसका सही से इस्तेमाल कर लेता है वोही सफल होता है ।
अतः अपनी पूरी ताक़त झोंक दो ।अगर 8 घण्टा सोते हो तो उसे 6 घण्टा कर दो ।

लोअर पीसीएस की प्रारंभिक परीक्षा के लिए सुझाव -)
1~ कुल 150 प्रश्नो के एक पेपर होते है मेरिट इसी से बनती है आप का टारगेट इस बार 108+ होना चाहिए ।
2- लोअर पीसीएस के पिछले वर्ष के पेपर तैयार कर के जाय ।
3-राजस्व निरीक्षक और समीक्षा अधिकारी के पेपर जरूर तैयार कर के जाय जो अभी हाल में हुए है ।
4- करेंट तो आप पढ़ ही रहे होंगे । रोज पढ़िए । अगस्त से दिसंबर तक का तैयार कर के जाइए । जैसे बुलेट ट्रेन किसकी मदद से चलाया जाएगा ; मोदी की विदेश यात्रा अन्य ।
5~ रिजनिंग व् मैथ्स से परेसान होने की आवश्यकता नही है बहुत आसान होते है । थोडा बहुत देख के जाइए ।
6- अब तो गंभीर हो जाइए । निरंतर पढ़िए । रोज एक दो पेपर लगा जाइए ।
7-घटना चक्र एक बार रिवाइज कर लीजिये । परिक्षा मंथन की वार्षिकी एक बार पढ़ के जाइयेगा ।
8~ नेगेटिव मार्किंग नही होती है अतः पूरा कर के आइयेगा।
9-बस आप लगे रहिये ,सब अच्छा होगा ।

भूगोल वैकल्पिक विषय रखने वाले अभ्यर्थियों के लिए कुछ सुझाव smile emoticon
1-पढाई हमेशा सेलेबस रख के की जाती है ।
2- विगत वर्षों के प्रश्न पत्रों को साथ रखिये ताकि आपको पैटर्न समझने में मदद मिले ।
3-प्रथम पेपर के लिए भौतिक भूगोल का स्वरुप-सविंदर सिंह लीजिये इससे पेपेर का पहला खण्ड़ समाप्त हो जाएगा जिससे आप 120 नंबर के प्रश्न तैयार कर सकते है जिनके नंबर ठोस होते है ।पेपर 1 के खंड द्वितीय में सिद्धांत व् मॉडल आते है उसके लिए कोई मटेरियल मार्किट से ले लीजिये ।अधिवास भूगोल के लिए -यस डी मौर्य का सहारा लिया जा सकता है
संसाधन भूगोल व् मानव भूगोल के लिए समय समय पे आने वाली पत्रिकाओं का सहारा लीजिये ।
4- पेपेर 2 के लिए माज़िद हुसैन , खुल्लर की बुक का लाभ उठाये ।यद्यपि माज़िद हुसैन की बुक सिलेबस उठा के ही बनाई गई है । इसलिए पेपेर 2 के लिए वो बुक ही पर्याप्त होगी ।
5- समसामायिक घटनाक्रम के लिए योजना व् कुरुक्षेत्र का प्रयोग करे । जैसे जल संसाधन ,मृदा संसाधन ,वाटरसेड मैनेजमेंट इत्यादि इसी से पढ़े जा सकते है ।पर्यावरण संरक्षण के लिए आप करेंट जरूर पढ़े ।
6-समाचार पत्र के संपादकीय भाग का प्रयोग करे अगर भूगोल से सम्बंधित विषय हो तो ।
7-पढ़ना पर्याप्त नही है अगर आप रोज 2 से 3 घण्टा लिखने का अभ्यास नही कर रहे है तो नंबर प्राप्त करना मुश्किल है ।
8- कुछ लोग भूगोल को चुन तो लेते है लेकिन भारत के मानचित्र की जगह नौ सिखुए की तरह रोटी बना देते है ।इसका नकारात्मक असर होता है ।आप को कम से कम एक बेहतर सेप तो देना चाहिए । इसके लिए अभ्यास कीजिये । रोज 8 से 10 बार भारत का मैप बनाइये सिख जायेंगे ।
9- अगर आप भरम में है कि बस याद कर ले लिख लेंगे तो आपको बता दू की आप पहले से ही फाइट से बाहर है ।आप को जबरदस्त प्रेक्टिस करनी होगी ताकि वहा प्रश्न देखते ही उत्तर का फॉर्मेट समझ आ जाना चाहिए ।
10-मैपिंग जहाँ संभव वहा जरूर बनाइये ।आलस्य मत दिखाइए नहीं तो दिक्कत होगी ।
11- रोज एक टॉपिक ख़त्म चुनिए उसमे से कुछ प्रश्न हल कीजिये और फिर पुराने वर्ष के प्रश्न देखिये ।आपको सुखद अनुभूति होगी ।
12-अन्य लोगों से सुझाव ले सकते है ।ये मेरे ब्यक्तिगत राय है जिसका मैंने पालन किया था ।
तीन महीने आपके पास शेष है
जो करना है ,जितनी ताक़त लगानी है इसी में लगा दो ।
एक भी मौक़ा ऐसा मत छोड़ों जिससे आप की हार हो ।

कुछ सुझाव -
1-पहले संविधान खत्म कीजिये । सबसे आसान और सबसे कम सिलेबस साथ ही साथ सबसे महत्वपूर्ण भी क्योकिं इससे प्रश्न गलत करने पे आप फाइट से बाहर होने लगते है । सबसे पहले पुराने वर्ष के प्रश्न पढ़ लीजिये ।फिर किसी बुक से पढ़िए और उसमे से नए प्रश्नों का नोट्स बनाइये ।
2-समसामायिकी रोज पढ़िए । 10 प्रश्न 20 प्रश्न जितना आप पढ़ सकते है । करेंट ही pcs परीक्षा का राम बाण है ।कम से कम 25 से 35 प्रश्न आते है चूँकि एग्जाम मार्च में है अगस्त से फरबरी तक का महत्वपूर्ण प्रश्न तैयार रखिये । करेंट से खेलवाड़ नहीं वरना खड़ा भी नहीं हो सकते ।2014 में मैं कारणवश करेंट नहीं पढ़ा ज्यादा मेरे 276 मार्क्स थे कटऑफ 275 था । सोचिये एक नं कम होता तो मै डिप्टी एसपी नहीं होता ।
3- भूगोल और इतिहास रोज पढ़िए । इतिहास के लिए "युथ कॉम्पटीशन इंडिया "की भारतीय इतिहास ले लो बस पर्याप्त है भूगोल के लिए परीक्षावाणी ,वर्णवाल की बुक देख लीजिये ।
4-प्रयावरण व् पारिस्थितिकीय करेंट के साथ पढ़ते रहिये ।
5--अर्थशास्त्र पुराने वर्ष का पढ़िए और प्रतियोगिता दर्पण विशेषांक का सहारा लीजिये।
6-रोज पढ़िए इतना पढ़िए जब तक थक के टूट न जाइए ।
7-कुछ जोश जोश में बढ़ा कर जाइए ।ज़माना वर्षों तक यद् रखेगा नहीं तो कौन किसको याद रख रहां है आप खुद ही जानते है ।
आपको हार से डर तो नही लग रहा ना ।
मैं समझ सकता हु आपकी हालत । करीब आते परीक्षा की दहशत जो दिल में होती है उसे परीक्षा में सम्मिलित होने वाला ही समझ सकता है ।
जिस हालात से आप आज गुज़र रहे है बेशक उन्ही हालातों से कल मेरा भी आमना सामना हुआ था ,कुछ वक्त के लिए तो मानों मेरी साँसे भी थम सी गई थी , नज़रों के सामने हार की वो काली छाया भले ही कपोल कल्पित रही हो लेकिन जीत की आश में निःसंदेह भारी थी । 2012 में अभियंता बनके बाहर आया तो उस समय बेरोजगारी का तिलक मेरे मस्तक को आच्छादित किये हुए था । इस अनिश्चितता भरी ज़िन्दगी को समाज का एक बड़ा तबका थू थू कर रहा था ,फर्क करना मुश्किल था किसे अपना कहु किसे पराया । बदलते हालात ने कभी बाहर से वो मजबूती नही दी जिसकी हमें जरुरत थी ,हालात शायद एक उम्मीद करता था हमसे कि हम खुद खड़ा होंगे । वक्त की ऊंट किधर करवट ले रही थी साल भर तो पता ही नहीं चला , न जाने कितनी आशाये निराशाओं में बदल गई थी ,न जाने कितने ठोकर पैर को चोटिल कर गए थे मुझे तो ये भी नहीं याद कि इन दो वर्षों में मैंने कितनी बार घुटने टेक के उठने का सार्थक साहस किया । अगर कोई चीज़ मेरे आँखों में चमक बनके आज भी है तो वो मेरा खुद के प्रति प्रबल विश्वास यानि आत्म -विश्वास । एक बात थी मेरे जेहन में जो हर रोज ,हर रोज मतलब छः साल तक मुझे अंदर से कुरेधती थी ।
एक प्रतिष्ठा, एक गौरव् ,एक मान जो मुझे दसवी व् बारहवी पास होने पे मिली थी वो मै खो चूका था क्योकिं मै उस समय अपने विधानसभा का सबसे अव्वल विद्द्यार्थि घोसित था ।
कही न कही उस सम्मान की पुनः प्राप्ति का भूख अंदर था और शायद ये बात मुझे सम्बल जरुर देती है अकेले खड़ा होने को ,अकेले चलने को। केवल यही एक कारण नहीं था कि मैंने लड़ाई शुरू की बल्कि कई वजहे थी ,बेशक आपके पास भी कई वजह होंगी ।आप में से कई नाम के लिए ,तो कई परिवार के लिए, तो कई समाज के लिए, तो कई खुद के लिए ही एक क्षेत्र में आये होंगे । जब तक हम सिविल की तैयारी में नहीं आते है हमे एक क्षेत्र की ब्यापकता का अंदाज़ा तक नहीं होता है ।
कभी हम इसे दाल भात का कोअर समझते थे तो कभी असम्भव कार्य । वास्तविक अनुभूति तो तब होती है जब लड़ाई के लिए हम मैदान में खुद होते है ।और आज हम सब जब इस रणभूमि में है हमे बेहतर समझ हो गई है कि ये क्या है । आप जिस जिस हालात से गुज़रते है वो हर हालात आपको एक एक सिख देती है ,गिरने पे उठने की सिख , रोने पे हँसने की सिख और हारने पे सुधारने की सिख और जीतने पे कुछ और बड़ा करने की सिख । जो ये सिख का सिलसिला चलता है वो अनवरत होता है बस हर सिख को हमें दिल से स्वीकारना चाहिए । आपके पास तमाम समस्याये होगी हो सकता है आप बिलकुल नए होंगे ,आपको अभी सामान्य अध्ययन की एबीसीडी भी मालूम नहीं होगी ,आपको अभी अच्छी ताश समाचार पत्र भी पढ़ने नहीं आता होगा लेकिन ध्यान देने वाली बात ये नहीं कि आपको कुछ नहीं आता बल्कि ये है कि कोई माँ की पेट से सिख के तो नहीं आता न ,हम सब यही सीखते है और अपनी सिखने के प्रति लगन व् निष्ठा से हवा के रुख का सामना करते है । आपका समाज हो सकता है आपको कई वर्षों से सिविल सेवा की तैयारी में लगे होने के कारण गालियां दे रहा हो ,आपकी उपेक्षा कर रहा हो लेकिन मैं यही कहना चाहूँगा की ये उसी सफलता का घटक है जो हमें आगे की सीढ़ी देता है ।क्या आप नहीं चाहते कि जो लोग कलुषित भाव से भीनं कर आपकी बुराई कर रहे है आप उन्हें कस कर तमाचा जेड ।क्या आप नहीं चाहते कि कल आपके गली मुहल्ले के लोग आपके नाम के लिए तालियां बजाये । क्या आप नहीं चाहते कि आपके घर वाले गर्व के साथ ये कहे कि हां हमारा ही बेटा या बेटी है ।
आपके अंदर वो ताक़त है जो कइयों के सपने साकार कर सकता है । आप कर सकते है। आपके अंदर आज भी एक आग है ।आप को सच में लड़ना होगा आप ऐसे ही पीछे नहीं है सकते ।आप मुझे निराश नहीं सकते ।
अपनी वाणी को विराम देने से पहले एक बात कहुगा जरूर कहूँगा आपसे -
अब तक जो हुआ सो हुआ
अब जो होगा वो अच्छे से अच्छा होगा
और इस अच्छे की कीमत इतनी होगी
कि ज़माना वर्षों तक चाह कर भी चुकता नहीं कर सकेगा ।
शिव कुमार सिंह
(असिस्टेंट कमिश्नर )
वाणिज्य कर

Uppcs 2016 के लिए रणनीति
सबसे पहली और अहम् बात *
1--पूरी ताक़त लगा दो ताकि ^आछे दिन पाछे गए ^वाली नौबत न आये ।
2--एक वैकल्पिक विषय को ट्रम्प कार्ड बनाओ ताकि खेल खेलने में मजा आये ।
3--सामान्य अध्ययन की तैयारी जबरदस्त तरीके से करिये ताकि sdm से चूकिए नहीं ।
4--जो न समझ में आये चाहे भूगोल हो इतिहास हो या कुछ भी हो सब रट जाइए ।
5-तैयारी की स्पीड बढ़ा दीजिये क्योकिं समय ने अपनी स्पीड बढ़ा दी है ।
6-हर शाम को अपना हिसाब खुद को दीजिये कि क्या आज हासिल किया आपने ।
7-लिखने का अभ्यास भी कीजिये ।
8-समसामायिक रोज पढ़िए । फेसबुक पे तमाम पेज है जो आपको बहमूल्य सामग्री उपलब्ध करा रहे है ।
9-खुद से वफादारी व् ईमानदारी हर वक्त रखिये ।
10- एक बात और अगर कोई कहे कि आप नहीं कर सकते तो मैं यही कहूँगा कि किसी के कहने फहने पे मत जाइए आपकी क्षमता आपके अंदर है और मैं ये जानता हु कि कोई अपनी जुबां खोल के आपके भविष्य का फैसला नहीं कर सकता ।

Top of Form

ऐसा प्रतीत हो रहा है कि uppcs से csat हट सकता है या फिर qualify हो सकता है ।आपको अब अपना ध्यान ज्यादा से ज्यादा ध्यान सामान्य अध्ययान पे फोकस करना चाहिए ।
बुक्स पढ़े -आपकी पढाई ठहरनि नहीं चाहिए लगातार करिये अब मार्च तक ।आत्मविश्वास को एकदम ऊंचा रखिये क्योकिं "मन के हारे हार है मन के जीते जीत "
सामान्य अध्ययन - पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र
समसामायिकी घटनाक्रम - कोई पत्रिका जैसे -परीक्षा मंथन या घटना चक्र या प्रतियोगिता दर्पण
समाचार पत्र की रोज की कटिंग कीजिये ।
लिखने का अभ्यास भी कीजिये ।
हो सके तो परीक्षा वाणी की पूरी बुक्स पढ़ जाइए ।
रोज के रोज पढ़ने से मानसिक तनाव कम रहेगा ।
Csat तब पढ़िए जब notification आ जाय ।
कृषि भी जरूर पढ़िए -परीक्षा वाणी
उत्तर प्रदेश -परीक्षा वाणी व् परीक्षा मंथन
और एक चीज़ आप पिछले वर्ष के वैकल्पिक विषय इतिहास भूगोल ,कृषि भी पढ़िए क्योकिं पहले csat की जगह वैकल्पिक आता था अब प्रश्न वहां से उठने लगे है ।
अब मेरे हिसाब से आपको gs वे पूर्ण फोकस करना चाहिए ।
खुद के नोट्स बनाते रहिये ।रिवीजन में आसानी होगी ।
उतार चढ़ाव तो जीवन में लगे रहते है
पर हर समय मजबूती से खड़े रहना कुछ और ही बात होती है
लोअर की परीक्षा दिसंबर के अंत में है ।अबी सच कहु तो आपके पास वक्त करो या मरो वाली है । मेरे कुछ सुझाव अगर आपको पसंद आये तो फॉलो करे ।
केवल एक पेपर होता है जिसमे 150 प्रश्न आते है । इसमें आपके सामान्य अध्ययन के प्रश्न ,8 से 10 मैथ्स और रिजनिग के प्रश्न और कंप्यूटर के प्रश्न होते है ।
सामान्य अध्ययन के लिए आप पुराने वर्ष के प्रश्न एकदम रट के जाइए। 150 में से कम से कम 60 प्रश्न तो रिपीट होंगे ही ।
करेंट आप अगस्त से तैयार रखिये विशेष रूप से अक्टूबर और नवम्बर और दिसंबर का । समसामायिक घटनाक्रम में आयोग द्वारा दिनाक विगत कुछ वर्षों से पूछा जा रहा है तो उसे ध्यान में रखे जैसे - किस तारीख को यहाँ के राष्ट्रपति यहाँ आये या किस डेट को ये मिशाइल छोड़ी गई ।
इसके कोई पत्रिका पढ़िए उसे अच्छे से तैयर रखिये । करेंट से कम से कम 25 से 35 प्रश्न तक आते है ।
कंप्यूटर सामान्य आती है उसे किसी बुक से देख ले ।
अध्ययन रोज करे । पुराने प्रश्न और करेंट रोज पढ़े । ईमानदारी बरकरार रखे । अब वक्त बर्बाद न करे । अब अगर आपने एक दिन भी गवाया तो आपकी जगह कोई और ले लेगा ।

Sponsored link