Government Job News Update,SSC, UPSC,UPPSC, Entrance Exam

Wednesday, 14 September 2016

vitt vihin teacher latest news up vittvihin teacher mandey Salary Latest news 2016

Up government will provide Salary for Private School TeacherNews 2016
If every thing will be ok then state government will be provide Salary to private school teacher of uttar pradesh. It’s a very good news for those teacher who are waiting for mandey and working in private school. Sources are saying that due state assembly election in 2017 government may gift mandey to niji school sikshak .  sources are saying that government will allot 200 crore in budge regarding salary of private school / Tadarth shikshak .  A concession is already made between sashan and Education department. 
Government Promises in 2012 Chunav in their Manifesto that when they will come in power they will give honorarium to Vittvihin sikshak of Uttar pradesh . These Teachers are protesting since long time,.
After that these teacher also boycott the evaluation of UpBoard examination copies.  After that CM of UP also promised once again that they will try to provide fund regarding salaryof such teacher and the will allot fund in next Budget. 
Once again teacher said that they will protest in front legislation and boycott Up board examination. That’s why government demand a proposal regarding this concern for Up Board / UPMSP and basic shiksha parishad.  Currently total 240433 teachers are working these schools which are affiliated from basic shiksha parishad.  Government made arrangement of 200 corse for the salary of Such teacher. 

Recently government of Up Published their Budge of 2016-17 and they made a provision of 200 crore for Such Teacher of primary level and Madhyamiklevel. Teachers are very happy due to this decision of government.  Approximately 2.4 lakh teachers will benefited due to this decision.  However their will be delay in transfer of salary of teacher in their bank account because government will set stander for distributing the salary  . currently 18167 school are conducting as a vitt vihin  under the Madhyamik shikshaparishad. First of all secondary education department will create news service rule for vittvihin  Teacher of Up. After completing the Niyamawali every thing will be clear like  who will get salary , what will be mandey , how many teacher of Each school will get salary ,  

vitt vihin teacher latest news up vittvihin teacher mandey Salary Latest news 2016 In Hindi 

वित्तविहीन शिक्षकों को मानदेय की पहली किस्त अक्टूबर में
  सूबे के 17551 मान्यताप्राप्त माध्यमिक वित्तविहीन विद्यालयों के 1.92 लाख अंशकालिक शिक्षकों को विशेष प्रोत्साहन मानदेय देने का एलान कर दिया है। यह मानदेय परीक्षा वर्ष 2012 तक शामिल यूपी बोर्ड से मान्यताप्राप्त वित्तविहीन हाईस्कूल/इंटरमीडिएट विद्यालयों के शिक्षकों को दिया जाएगा। अंशकालिक शिक्षकों को मानदेय की धनराशि का भुगतान छह-छह महीने की अवधि पर सितंबर और मार्च में किया जाएगा। इस हिसाब से उन्हें वार्षिक मानदेय की पहली किस्त का भुगतान अगले माह हो सकेगा।
इस बारे में हाल ही में कैबिनेट द्वारा फैसला किये जाने के बाद सोमवार को माध्यमिक शिक्षा विभाग ने शासनादेश जारी कर दिया है। सरकार के इस फैसले का लाभ हाईस्कूल स्तर के 8036 तथा इंटरमीडिएट स्तर के 7431 वित्तविहीन विद्यालयों को मिलेगा। इनके अलावा इंटरमीडिएट स्तर के 2084 ऐसे विद्यालयों के अंशकालिक शिक्षक भी इस निर्णय का लाभ पा सकेंगे जो कि हाईस्कूल स्तर पर सवित्त हैं लेकिन इंटरमीडिएट स्तर पर विभिन्न वर्गों में वित्तविहीन हैं। शासनादेश के मुताबिक वित्तविहीन विद्यालयों के 7431 अंशकालिक प्रधानाचार्यों, 8036 प्रधानाध्यापकों, 68,387 प्रवक्ताओं और 1,08,269 सहायक अध्यापकों को मानदेय दिया जाएगा। प्रत्येक अंशकालिक प्रधानाचार्य को प्रोत्साहन स्वरूप 13,090 रुपये वार्षिक मानदेय दिया जाएगा। वहीं हर अंशकालिक प्रधानाध्यापक को 11,990 रुपये, प्रवक्ता को 10890 रुपये और सहायक अध्यापक को 9790 रुपये वार्षिक मानदेय दिया जाएगा।
अंशकालिक शिक्षकों को दिया जाने वाला विशेष प्रोत्साहन मानदेय उन्हें विद्यालय प्रबंधतंत्र द्वारा भुगतान की जा रही परिलब्धियों के अतिरिक्त होगा। अशासकीय असहायिक माध्यमिक विद्यालयों के उन्हीं अंशकालिक शिक्षकों को मानदेय का भुगतान किया जाएगा जो इंटरमीडिएट शिक्षा अधिनियम में उल्लिखित न्यूनतम शैक्षिक व प्रशिक्षण योग्यताएं रखने के अलावा प्रबंध समिति द्वारा नियुक्त और संस्था में हाल फिलहाल तक कार्यरत हों।
जिला स्तर पर अंशकालिक शिक्षकों की पात्रता तय करने के लिए संस्था के प्रबंधक और अंशकालिक प्रधानाचार्य/ प्रधानाध्यापक के संयुक्त हस्ताक्षर से शपथ पत्र जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में प्रस्तुत किया जाएगा। जिला विद्यालय निरीक्षक एक हफ्ते में संबंधित संस्थाओं का परीक्षण कर सूचना शिक्षा निदेशालय को भेजते हुए मानदेय भुगतान की कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। गौरतलब है कि सरकार ने चालू वित्तीय वर्ष के बजट में वित्तविहीन माध्यमिक विद्यालयों के अंशकालिक शिक्षकों के मानदेय भुगतान के लिए 200 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था।
Ashaskiya  Madhyamik Vidyalaya anshkalin Adhyapak mandey bhugtan 

Download GO Copy : Page | Page | Page | Page | Page | Page | Page | 

Sponsored link

11 comments:

  1. अच्छा समाचार है पर शायद सरकार को 10000 प्रति माह देना चाहिए| और जल्द ही इनको नियमित भी किया जाये

    ReplyDelete
  2. Ary sir ji koi bata do ki mandey kab tak milega ???????

    ReplyDelete
  3. Please koi btaayega ki teachers list kaise dekhi jaye mandey pane walo ki ?

    ReplyDelete
  4. ye bat to thik hai ki manday jari hua hai par keval teachers ke liye hi kyun kya college me anya karmchari bekar hai jo manday ki aash me baithe hai

    ReplyDelete
  5. Akehajar Dakar beek deya raha hai kaya

    ReplyDelete
  6. mai ashutosh kumar maurya vitt vihin computer teacher hoon kaya mai is yojana me shamil ho sakta hoon to jaroor bataye
    my email id : raj.amps786@gmail.com

    ReplyDelete
  7. Really want to know when will we recive our mandey

    ReplyDelete
  8. Are koi yeh to bataye ki mandey milega kab

    ReplyDelete
  9. Kya ek adhyapak jisne apna adhe se adhik jivan bachho ko shikshit karne me laga dia ho uska vetan manrega me kaam karne wale majdur ke masik vegan se bhi kam hai.

    ReplyDelete